Festival and Shayari

पुलवामा आतंकी हमला हिंदी में

पुलवामा आतंकी हमला हिंदी में दोस्तों आज के इस आर्टिकल में पुलवामा आतंकी हमले के बारे में मैं आपको बताने जा रहा हूं वैसे तो शायद हिंदुस्तान का कोई ऐसा व्यक्ति होगा जिसको शायद इस हमले के बारे में मालूम ना हो बड़ी निंदा के साथ कहना पड़ रहा है! कि इस घटना में हमारे 44 सीआरपी एफ जवान शहीद हो गए ! यह घटना जम्मू कश्मीर के पुलवामा की है !

जम्मू कश्मीर के पुलवामा में आतंकवादियों ने सीआरपीएफ के काफिले पर एक बहुत बड़े हमले को अंजाम दिया !जिसमे हमारे कई जवान शहीद हो गए !और कई जवान घायल हैं ! इस घटना के पीछे आतंकवादी लश्कर – ए -जैश  ए- मोहम्मद के आतंकवादी आदिल अहमद डार को बताया जा रहा है!इसने ही इस घटना को अंजाम दिया है !

इस हमले को अंजाम देने बाले आदिल डार के पिता गुलाम हसन  डार  का एक बड़ा बयान सामने आया है ! आइए जाने आखिर क्या है यह बयान

जम्मू कश्मीर के पुलवामा मैं सीआरपीएफ के नौजवानों पर एक बहुत बड़ा आत्मघाती हमला बताया जा रहा है कि सीआरपीएफ का यह काफिला जम्मू कश्मीर से श्रीनगर की ओर जा रहा था ! जिसमें बड़ी तादात में  70 से अधिक वाहन थे जिस पर आदिल दार ने कार में  भरे विस्फोटक से सीआरपीएफ नौजवानों की बस में अपनी कार को लड़ा दिया जिससे ये  बाहत बड़ा विस्फोटक हुआ !

 

कार में भरे विस्फोटक और बस की टक्कर से इस घटना को अंजाम दिया गया ! जिसमें हमारे कई नौजवान घायल तथा 44 नौजवान शहीद हो गए ! जिसमें हमारे कुछ नौजवान ऐसे थे जिसकी उम्र कुल महज 18 साल थी ! बड़ी बेदर्दी के साथ इस हमला को अंजाम दिया गया !

आतंकवादी संगठन  जैश – ए – मोहम्मद  ने इस घटना की जिम्मेदारी ली

पुलवामा मैं हुए इस घटना के बाद आतंकवादी संगठन जैसे मोहम्मद ने एक वीडियो वायरल करते हुए इस घटना की जिम्मेदारी ली इस वीडियो में आत्मघाती हमलावर आदिल डार वीडियो में एक आत्मघाती हथियार लिए दिखाई दे रहा है ! जिसके पीछे आतंकवादी संगठन जैसे मोहम्मद का पोस्टर लगा दिखाई दे रहा है !

यह वो आतंकवादी शख्स है जिसने पुलवामा हमले को अंजाम दिया इसका ही नाम आदिल डार है !जो जैश ए -मोहम्मद लस्कर संगठन का आतंकवादी है !

क्या कहा आदिल डार के पिता आइये जाने

पुलवामा में इस घटना के बाद आदिल डार के पिता गुलाम हसन डार ने एक समाचार एजेंसी से बात करते हुए कहा ! कि मुझे इस आतंकी घटना हमला के बारे में पहले से कुछ मालूम नहीं था ! उसने कहा कि वह इस दर्द से पहले से ही गुजर रहे हैं  !जिस दर्द से इन शहीद जवानों के परिजन गुजर रहे हैं ! इस बात को आदिल डार के पिता गुलाम हसन डार ने समाचार एजेंसी से बातचीत करते हुए कहा !

सत -सत नमन इन देश के नोजवानो को जो हमें सुरक्षित कर खुद शहीद हो गए ! जय हिन्द जय भारत हिन्दुस्तान जिन्दाबाद

दोस्तों यदि आपको हमारा आर्टिकल आपको पसंद आया हो तो प्लीज इसे अपने दोस्तों को भी शेयर करे ! और हमें कमेंट करके बताये की इन आतंकवादियों को कैसी सजा देनी चाहिए तो प्लीज कमैंट्स फ़ास्ट। Thanks

 

 

About the author

Tahirmalik786

2 Comments

Leave a Comment